ज़ुल्जिनाह के इतिहास में वफादारी और ईमान का रिश्ता मिलता है |

M.MAsum Syed Thursday, December 28 0

हज़रत मुहम्मद (स अ व ) के घोड़े का नाम  ज़ुल्जिनाह था जिसे उन्होंने एक अरबी  नाम हारिस से खरीदा था । ज़ुल्जिनाह का पहले नाम मुर्तज़िज़ था । .......

ज़ुल्जिनाह के बारे में जानिये सब कुछ |

M.MAsum Syed Wednesday, October 28 0

मुहर्रमआते ही जगह जगह अज़ादारी के जुलुस इमाम हुसैन (अ.स ) और कर्बला के शहीदों की शहादत को याद करते हुए ...

तीसरी मुहर्रम हबीब इब्ने मज़ाहिर के नाम है |

S.M Masum Sunday, October 18 0

आज दो मुहर्रम को जौनपुर में सुबह से ही पंजे शरीफ जाने के लिए लोग सवारियां तलाशने लगते हैं मुहल्लों से जुलुस अलम का लिए अंजुमन वाले भी ...

जौनपुर अज़ादारी को देख कर्बला या आती है |

S.M Masum Thursday, October 15 0

शार्की बादशाहों ने जौनपुर में बहुत से इमामबाड़े ,रौज़े बनवाये जिसे देख के ऐसा लगता है की वो जौनपुर को बग़दाद की शक्ल देना चाहते थे और बहुत हद ...